Breaking News

Philosophical Quotes

********* 1 ********
राह पर चलकर मंजिल को पाना अलग बात है  
पर अपनी राह खुद बनाकर मंजिल को पाने का आनंद अनंत होता है

********* 2 ********

पानी के बुलबुले की प्रकृति भी अजीब होती है |

खुद फना हो जाता है हवा को आजाद कराने को

********* 3 ********
जैसे ही हम भगवान को याद करने के लिए आंखें बंद करते हैं, दुनिया की तमाम चीजें हमारी आंखों के सामने प्रकट होकर हमसे बात करने की कोशिश करने लगती है

********* 4 ********
कैसे लोग कहते है की वो याद एकदम ताजा है
मुझे तो एक धुंदली सी चादर के सिवा कुछ नहीं दीखता.
हो सकता है सायद मेरी आँखें पूरी खुली ही नहीं थी
या हो सकता है फिर उस पल को पूरा जिया नहीं
पर याद तो वो धुंदली ही है
जब उस पल को वापस जाके देकता हु
तो जगह तो दिखाई देती है पर मैं कही दिखाई नहीं देता
जैसे ही मैं दिखाई देता हु वो पल की याद पे धुंदली सी चादर बीछ जाती है
और सब फिर से धुंदला हो जाता है
मेरे होने का प्रसनचिन मेरे ही पल मैं
कैसे !!!

********* 5 ********
गला घोंटु

मन को बहलाकर फुसलाकर मैंने आज मन के हाथो ख्वाहिस का गला घुटवा दिया कल ख्वाहिस मुझे बहलाकर फुसलाकर मन का गला घुटवायगी

********* 6 ********
There is someone somewhere in the universe who knows everything about everything. He knows every physics equation and maths formula and series. He chooses the person from us and gives a hint for new discovery before any discovery and letting us that discovery complete to reach more closure to him. He letting us take the credit for that discovery, he doesn't bother about it.

His way to destroy is unique. He lives somewhere near the infinity.

He is Shiva

********* 7 ********
परछाई देखकर पीछे दौड़ने वालो की कतार मे एक मैं भी हूँ. पता नहीं परछाई को पकड़ने के लिए या बस एक और बहाना किसी नयी दिशा मे भागने का पुरानी परछाई से पीछा छुड़ाने के लिए |
पुरानी राह और सफर से ऊबकर किये वादे भूलकर नयी परछाई से रिश्ता बनाकर हजारो खाव्व बुन्न लेता है मन मेरा उसके अभिव्यक्त  होने के पहले ही  |

इसी तरह भागने का और खाव अधूरे रहने का सिलसिला कामयाब रहता है और मैं चलता रहता हूँ

********* 8 ********
आज बड़े ही अजीब दृश्य सामने आया हैडफ़ोन को सुलझाते समय. प्रारम्भ में उसको सुलझाना काफी मुश्किल प्रतीत हो रहा था पर जैसे जैसे वो सुलझता गया काम आसान lagne लगा और आखिर के तीन चार फेरे तो अपने आप ही खुल गए .

जीवन की समस्याऍं भी उलझे हुए हैडफ़ोन की तरह ही है

********* 9 ********
Program in which we are trapped unfortunately works from upside down. That means by default any successful person will become fail if he will not put resistance to that force. Hmmm, gravity. So to reach on next level we have to put more resistance against that force. Means more positive energy more focus to make that program work in your favor.


No comments