Posts

Showing posts from April 21, 2019

9 नयी आदतें जो हम भारतीयों ने अपनायी है इंटरनेट आने के बाद ( Habits Indian Got after Internet)

Image
जब भी कोई नयी चीज़ हमारे सामने आती है तो हम अपनी उत्सुकता रोक नहीं पाते| ऐसा ही कुछ हुआ जब हम भारतीयों ने इंटरनेट का उपयोग चालू किया| वैसे तो Internet आने के बाद से बहुत कुछ बदला है| तरक्की से काफी रास्ते इंटरनेट ने मुहैया कराये है| इंटरनेट एंड सोशल मीडिया एक ऐसी दुनिया है जहाँ आराम से खोया जा सकता है| और जहा आसानी से सफलता भी पाई जा सकती है। 
आज हिंदुस्तान में ये आलम है की 50% से जयादा आबादी बिना इंटरनेट के नहीं रह सकती . खास तौर से फेसबुक, ट्वीटर, व्हाट्स ऐप के बिना तो आप अपनी जिंदगी की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। ताज्जुब कि बात 





इस दौरान हमे कब ये 9 नयी गन्दी आतें लग गयी पता ही नहीं चला 

9 ऐसी गंदी आदतें जो हम भारतीयों को लगी है इंटरनेट और सोशल मीडिया आने के बाद
सडक पर चलते समय मोबइल पर बात करनाये वो गंदी आदत है जिस्के चलते हम खुद को तो मुश्किल मे डालते है बल्कि दुसरो के लिए भी मुश्किल खडी कर देते है।  इस आदत से बचने क एक हि उपाय है कि सडक पे चलते वक्त अपने उपर ओर आस पास पुरा ध्यान रखना चाहिए




बेसब्री का व्यवहार करना
इन्टरनेट कि बजह से कफी चीज़े आसानी से मिलने लगी है। इस बेसब्री का सबसे ज…

एक जापानी गांव में केवल 27 लोग हैं और 270 आदम-आकार वाली गुड़िया उनका साथ देने के लिए (Lonely Village in Japan)

Image
पर पिछले कुछ वर्षों में, जापानी आबादी में भारी गिरावट आयी है । ग्रामीण और पहाड़ी क्षेत्र मानव आबादी को कम करने वाले क्षेत्रों की सूची में शीर्ष पर रहे हैं। पश्चिमी जापान के पहाड़ों में स्थित नागोरो नामक एक ऐसे गांव में पहले 300 से अधिक लोगों की आबादी थी। अब यहाँ केवल 27 लोग ही बचे है जो अपना जीवन काट रहे है और अकेलेपन से झुज रहे है| 

यु तो अकेलापन हमेशा सभी को कचोटता है और हम सभी कभी भी अकेले बहुत समय तक रहना नहीं चाहते | इसलिए नागोरो में रहने वाली एक महिला ने अकेलेपन से निपटने का अगल ही रास्ता खोज निकाला 




गाँव में अकेलेपन का कम करने के लिए, एक स्थानीय निवासी त्सुकिमी अयानो ने मानव आकार की गुड़िया बनाने का फैसला किया और उन्हें सड़कों पर घरो के बाहर , बस स्टैंड पे, स्कूल में सभी जगह रख दिया।
उनका कहना है की आदम आकर के गुड़िया देखकर बचे लोगो को भीड़ का अनुभव होता है | जिससे अकेलापन महसूस नहीं होता | 


गांव में 27 मनुस्यो के साथ करीब करीब 270(10 गुना) गुड़ियाएं रह रही है 
यह सब 16 साल पहले शुरू हुआ जब अयानो ने अपना पहला नमूना बनाया और उसे अपने पिता के कपड़े पहनाकर बगीचे में बिठा दिया ताकि बगीचे म…

समय का बदलाव हो या नया जमाना (Samay Ka Badlaav Ho Ya Naya Zamana)

Image
समय का बदलाव हो या नया जमाना दिल पे दस्तक देने चाहे जब आ जाना
हो शिकायतें पुरानी या ख़्वाहिसे तरीन कुछ सोचकर ही अब मुझे आजमाना
इश्क़ करना है तो क्यों न खुद से करु जहाँ ना दर्द है ना पछताना



फुसफुसाता है वो यू कानो में मेरे मानो चाहता है बिन कहे सुनजान
तारीफ में किसी की भी करू उसकी तो फितरत में ही है जल जाना
कभी मैं बदल जाऊंगा तुझमे तेरा होके खोकर कभी तू भी मुझमे ढल जाना
कॉमेंट शेयर लाइक

जरुर पढ़ेहसरत-ऐ-नादा संभल जा अब न कोई फरियाद कर (Hasrat-e-naada)सबके साथ उठो बैठो यहाँ कौन पराया है (Sabke saath utho baitho)जख्म हर रात जगाने चले आते है (Jakhm har raat jagane chale aate hai)चरागों मे रात भर बसर जिंदगी (Charago me raat bhar basar jindgi)

क्या आप जानते है? स्विट्ज़रलैंड में गाय के पेट में छेद क्यों किया जाता है? (Cow with hole in stomach)

Image
आज दुनिया एक ऐसे मुक़ाम पे पहुँच चुकी है यह उच्च प्रदर्शन की उम्मीद केवल इंसानों से नहीं जानवरों से भी की जाने लगी है। जानवरों से ज़ायद से लाभ कमाने के लिए उनके ऊपर हज़ारों प्रयोग किए जा रहे है जिससे जानवरों से कम से कम लागत में ज़्यादा से ज़्यादा लाभ कमाया जा सके।

ऐसे ही एक प्रयोग की चर्चा हम करेंगे जिसे गायों पे प्रयोग किया जा रहा है जिससे उनका पाचन तंत्र बेहतर किया जा सके और दूध के उत्पादन को बढ़ाया जा सके। इन गायों को The Cannulated cow कहा जाता है

क्या होती है Cannulated Cow?
Cannulated cow को समझने से पहले हमें cannula विधि को समझना होगा। वैसे तो यह एक बहुत की आम है और हम जब भी हॉस्पिटल जाते है वह हम cannula को आसानी से देख सकते है । समझने के लिए नीचे दिए गए चित्र को देखे।
जैसे की हम दिए गए चित्र में देख सकते है कि एक नली गाय के पेट में डाल दिया जाता है और बाहर से इस प्रकार बंद किया जाता है की बाद में ज़रूरत पड़ने पर आसानी से खोला जा सके । इस प्रकार Cannulated cow वो गाय होती है जिसके पेट में सर्जरी के द्वारा एक छेद किया गया है जिसका उपयोग गाय के पाचन के देख रेक में किया जाता है

ग…