Breaking News

इक जुट होकर आज हमें ये प्रण करना होगा (Ek Jut Hokar Aaj Hume Ye Pran Karna Hoga)


इक जुट होकर आज हमें ये प्रण करना होगा
देश के खातिर आज संघर्ष यहाँ करना होगा

हम नई शक्ति नए भावो से उज्जवल है
हमही से हर कोने में आज नई हलचल है
नए सवेरे के खातिर अंधियारों से लड़ना होगा
देश के खातिर आज संघर्ष यहाँ करना होगा

आजादी की खातिर कुर्बानी थी दी कई
इंकलाब की गुंजो ने भर दी थी तब जान नई
ऐसा ही कुछ अब हमको भी करना होगा
देश के खातिर आज संघर्ष यहाँ करना होगा

राजनीति ने देश खून बेचा औऱ खाया है
धर्मबाद को लेकर कई बार हमें लड़ाया है
राजनीति का काला ये खेल खत्म करना होगा
देश के खातिर आज संघर्ष यहाँ करना होगा

मेरे पास अल्फ़ाज़ तुम्हारे पास आगाज़ है
हर जंग जीतने का हमको पूरा पूरा विश्वास है
आज इस आगाज़ को अंजाम हमे करना होगा
देश के खातिर आज संघर्ष यहाँ करना होगा

No comments