Breaking News

विज्ञापन कैसे मानसिकता को पूरी तरह से हेरफेर करता है



विज्ञापन कैसे मानसिकता को पूरी तरह से हेरफेर करता है जिसे मैं हाल ही में समझ सका।

हाल ही में मैंने अपने परिवार के साथ रोम, इटली का दौरा किया। रोम का दौरा करना एक सपना था और प्रामाणिक इतालवी पिज्जा खाना भी एक सपना था।

एक दिन एक अच्छा समय पे हमने प्रामाणिक इतालवी पिज्जा का आर्डर दिया। टेबल पर ऑर्डर किया। पिज़्ज़ा आया तो पर अपने आकार को छोड़कर वह पिज्जा की तरह नहीं दिख रहा था। पिज्जा तो वही होता है जो हम डोमिनोज और पिज्जा हट में खाते है।

मेरे दिमाग में पिज़्ज़ा को ऐसे ही विज्ञापन किया गया था। झुटे पिज़्ज़ा को मैं सही मान रहा था। और सही पिज़्ज़ा को सही मानने मे बहुत मुश्किल हो रही है।  मैं कितना बड़ा मूर्ख हूँ?

अंग्रेजों औऱ मुग़लो द्वारा हमारी भारतीय संस्कृति के साथ भी यही हुआ है।  सारे साक्ष्य मिटा दिए गए और गलत प्रचार द्वारा हमे हमारी संस्कृति से दूर करते गए।यदि हम अपने शास्त्रों के साथ थोड़ा और गहराई से झाके तो हम पाएंगे कि हमारी अपनी संस्कृति के बारे में हमारा ज्ञान डोमिनोज़ पिज्जा जैसा है।

सही तथ्यों का पता लगाने का समय आ गया है।

No comments